satta khabar,khabar satta ki, यहां मिलती है राजनीति,खेल और सत्ता से संबंधित पहली खबर। इस न्यूज़ पोर्टल के माध्यम से देश दुनिया की सत्ता से जुडी एवं राजनातिक पहलुओं की हर एक खबरों को आप लोगों तक पहुंचाते हैं

Tuesday, 4 May 2021

जिमीकंद की खेती एपिसोड तीसरा | jimikand ki kheti third episode

Jimikand ki kheti third episode

जिमीकंद की खेती एपिसोड तीसरा third episode

कृषि दर्शन । जिमीकंद की खेती ( jimikand ki kheti ) के इच्छुक किसान छोटे साइज, मीडियम साइज, बड़े साइज में से कोई भी साइज का बीज लगा सकते हैं, सभी साइज का बीज किसान भाई लगा सकते हैं सभी साइज के बीज अच्छे होते हैं बस फर्क सिर्फ उत्पादन और जर्मी नेशन के दिनों का होता है बड़े साइज के बीजों को हम चुकी कटिंग करके लगाते हैं इसलिए इसका जर्मिनेशन थोड़ा लेट से होता है कटिंग वाले बीजों को जमीन से पूरी तरह से बाहर आने में लगभग 20 -25 दिनों से लेकर 40 दिन का समय लग जाता है लेकिन यह बीजजैसे ही जमीन से बाहर आते हैं तो बहुत ही तीव्र गति से ग्रोथ करते हैं और इसमें पौधे का आकार व कंद का आकार छोटे बीज के अपेक्षा काफी बड़ा होता है और इसका उत्पादन भी बहुत ज्यादा आता है यदि हम 15 से 20 क्विंटल  बीज लगाते हैं तो 1 एकड़ में इसका उत्पादन यदि मौसम अनुकूल रहा और अच्छे से मेहनत किया जाए तो 150 क्विंटल से 200 कुंटल तक आराम से उत्पादन लिया जा सकता है मैं स्वयं 1 एकड़ में 200 कुंटल से ज्यादा का उत्पादन ले चुका हूं और हमारे बीच में आरंग कुटेला क्षेत्र के निवासी भाई विजय चंद्राकर जी एक ऐसे उदाहरण है एक ऐसे किसान हैं जिन्होंने मेरे द्वारा दिए गए बीजों से पहली बार जिमीकंद की खेती करके 200 कुंटल जिमीकंद का उत्पादन ले करके एक रिकॉर्ड कायम किया है अतः किसान भाई जिमीकंद की खेती करके अच्छा मुनाफा कमा सकते हैं शेष जानकारी अगले एपिसोड में....

Jimikand ki kheti second episode देखें... 

     जिमीकंद की खेती करने के इच्छुक किसान भाई अच्छे प्रमाणित व अधिकतम उत्पादन क्षमता वाले बीज के लिए संपर्क कर सकते हैं मोबाइल नंबर 961747 9142 बहुत-बहुत धन्यवाद! 

No comments:

Post a comment